मौत को मात देने बाद धमाकेदार अंदाज में हुई पहाड़ के शेर की YOUTUBE पर एंट्री

0
1092

देहरादून: लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी उत्तराखण्ड राज्य के लिए वो संजीवनी है जो युवाओं को अपनी संस्कृति की तरफ आकर्षित करती है। नेगी जी के गाने युवाओं से लेकर बुजुर्गों में भी विख्यात है। उन्हें उत्तराखण्ड संगीत का आइकॉन कहा जाता है। मौत को मात देने के बाद एक फिर ये पहाड़ी शेर लौट आया है।

Image result for नरेंद्र सिंह नेगी

नेगी जी हार्ट अटैक से उबरने के बाद  प्रशंसकों के बीच धमाकेदार तरीके से पहुंचे हैं। बीमारी से लौटने के बाद उनका पहला गीत शनिवार को लांच हुआ। ये गीत सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसके गीत लोगों को अपनी धुन में खोने पर मजबूर कर रहे हैं। बता दें कि इस गीत की शूटिंग पेश्वर स्थित गोपीनाथ प्रांगण में हुई है। ये गीत होली पर है।

Related image

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता मिलन हाल में लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी के होली गीत ‘होरी ऐगे’ का लोकार्पण किया। इस मौके पर सीएम ने नेगी जी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि नेगी जी ऐसे शख्स है जिन्हें परिचय की जरूरत नहीं है। वो उत्तराखण्ड की पहचान है जिसने विदेशों में भी राज्य की संस्कृति की नीव डाली है। उन्होंने कहा कि नेगी दा के गीत लोगों की भावनाओं से जुड़े होते हैं। समाज के हर वर्ग को फोकस करते हुए उनके गीत समय की परिस्थितियों के हिसाब से लिखे गए हैं। इस अवसर पर लोक गायक नरेंद्र सिंह नेगी, डॉ. विनोद बछेती, मुख्यमंत्री के सलाहकार डॉ. नवीन बलूनी, रमेश भट्ट आदि उपस्थित रहे। नरेंद्र नेगी जी का ये गीत होली को ध्यान पर रखते हुए बनाया गया है। जिस गाने का मुखड़ा पिचकारी झर्ररर, कैने मारी तर्ररर.. बेहद आकर्षक है।  साल 2011 के बाद नेगी जी का वीडियो रिलीज किया जा रहा है। वहीं लोगों की मानें तो नेगी जी का ये गीत कई कीर्तीमान तोड़ सकता है।

यहां देखिए नरेंद्र सिंह नेगी का नया गाना-पिचकारी झर्ररर, कैने मारी तर्ररर—अगली स्लाइड पर नीचें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here