उत्तराखंड के बेटे को भारतीय बास्केटबाल टीम की कमान ,गोल्ड मांगे देवभूमि - Lucknow Headline
Thursday, August 16, 2018
Home उत्तराखण्ड उत्तराखंड के बेटे को भारतीय बास्केटबाल टीम की कमान ,गोल्ड मांगे देवभूमि

उत्तराखंड के बेटे को भारतीय बास्केटबाल टीम की कमान ,गोल्ड मांगे देवभूमि

0
119

 

देहरादून: उत्तराखंड के खिलाडी खेलों में न सिर्फ प्रदेश का बल्कि देश का भी नाम रोशन कर रहे हैं । ऐसा कोई भी खेल नहीं जहाँ उत्तराखंड के खिलाडी अपनी प्रतिभा का जलवा न दिखा रहे हों । इसी कड़ी में नया नाम जुड़ गया है उत्तराखंड के अंतरराष्ट्रीय बास्केटबाल खिलाड़ी यादविंदर सिंह का । यादविंदर सिंह को कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भारतीय बास्केटबाल टीम की कमान सौंपी गई है। यह न केवल यादविंदर सिंह के लिए बल्कि पूरे उत्तराखंड के लिए बेहद गर्व का क्षण है भारतीय टीम में इस साल उत्तराखंड से एकमात्र यादविंदर को ही जगह मिल पाई है।

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए यादविंदर को मिली बास्केटबाल टीम की कमान

चयनित टीम ऑस्ट्रेलिया रवाना हो गई है, वहां 20 दिन का विशेष प्रशिक्षण शिविर चलेगा। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चार से 15 अप्रैल तक 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन होने जा रहा है। बंगलुरू में चल रहे इंडिया कैंप में इस साल उत्तराखंड के कोटे से केवल यादविंदर सिंह और अमनदीप सिंह को रखा गया था।

निवर्तमान कप्तान विशेष भृगुवंशी अपनी शादी की वजह से कैंप में शामिल नहीं हो पाए थे। कैंप में प्रदर्शन के आधार पर बास्केटबाल फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भारतीय टीम की घोषणा करते हुए यादविंदर को कप्तानी सौंपी, जबकि अमनदीप टीम में जगह बनाने में कामयाब नहीं हो सके।यादविंदर वर्ष 2002 से लगातार भारतीय बास्केटबाल टीम से जुड़े हुए हैं और इससे पहले जूनियर स्तर पर भी कई पदक जीत चुके हैं। उन्होंने वर्ष 2012 में ओएनजीसी देहरादून में ज्वाइन किया और तबसे वे राष्ट्रीय स्तर पर उत्तराखंड के लिए खेल रहे हैं।

अब तक के खेल करियर में यादविंदर सिंह तीन बार एशियन गेम्स में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। वे ओएनजीसी और उत्तराखंड के पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जो दूसरी बार कॉमनवेल्थ गेम्स में खेलेंगे।ओएनजीसी के बास्केटबाल गेम्स इंचार्ज त्रिदीप राय, कोच दिनेश कुमार, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी मुरली कृष्णन, विशेष भृगुवंशी ने यादविंदर को इस उपलब्धि पर बधाई दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here