बिहार: सरकारी अस्पताल की बड़ी लापरवाही , मरीज़ों के साथ अस्पताल में सो रहे हैं आवारा कुत्ते

0
153

नई दिल्ली :हिंदुस्तान में सरकारी अस्पतालों में मरीज भगवान भरोसे हैं | कभी डॉक्टर की लापरवाही सामने आती है तो कभी सरकारी अमले की | ताजा मामला बिहार का है जहाँ से लापरवाही की एक नई तस्वीर सामने आई है | इस तस्वीर ने अस्पताल के साथ साथ राज्य सरकार पर भी प्रश्नचिन्ह लगा दिया है |मुजफ्फरपुर के सदर अस्पताल का एक वीडियो सामने आया है जिसमे अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में मरीज़ों के साथ बिस्तर पर कुत्ते लेटे हुए नज़र आ रहे हैं |सूत्रों के अनुसार यह वीडियो किसी मरीज के परिजन ने कुछ दिन पूर्व बनाया था जो अब सोशल मीडिया में वायरल हो गया है |

मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में 40 बेड हैं जिनमें से कई में कुत्ते नज़र आ रहे हैं | इस वीडियो में देखा जा सकता है की वार्ड में कोई भी स्वास्थ्य कर्मी या सुरक्षा कर्मी मौजूद नहीं है | जिसकी वजह से कुत्ते बेरोक टोक हॉस्पिटल के अंदर घुस आते हैं | वार्ड में मौजूद मरीज़ों के सहायक कहते हैं की उन्होंने कई बार इन कुत्तों को वार्ड से भागने की कोशिश की लेकिन वह बार-बार वापस लौट आते हैं | लोगों ने बताया की कई बार तो कुत्ते मरीज़ों को काट भी चुके हैं | वीडियो वायरल होने के बाद मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी धर्मेंद्र सिंह ने मंगलवार को अस्पताल का औचक निरीक्षण किया और इस दौरान उन्होंने कई खामियों पर हॉस्पिटल स्टाफ को डांट लगाई |

लापरवाह स्वास्थ्य अधिकारीयों पर कार्रवाई करते हुए जिलाधिकारी धर्मेंदर सिंह ने उप मेडिकल सुप्रीटेंडेंट की तनख्वाह पर रोक लगा दी है | जिलाधिकारी ने कहा की बाकि के स्वास्थ्य अधिकारीयों के खिलाफ भी उचित कार्रवाई की जाएगी| उन्होंने कहा की अस्पताल के बिस्तर में कुत्तों का होना एक गंभीर विषय है | उन्होंने निर्देश दिए की अस्पताल के हर वार्ड में वार्ड बॉय और सुरक्षा कर्मी का रहना अनिवार्य होगा ताकि किसी तरह के जानवर अंदर न आ सकें |

मुजफ्फरपुर के सदर अस्पताल में लापरवाही का यह कोई पहला मामला नहीं है ,इससे कुछ महीने पहले भी अस्पताल के कैंपस में एक वृद्धा की लाश मिली थी और अस्पताल के कर्मचारी कूड़ा उठाने वाली मशीन में उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए ले गए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here