पुलिस की मुस्तैदी , 36 घंटे में सुलझाई किडनेपिंग की गुत्थी

0
76

नई दिल्ली : 5 करोड़ रूपए की फिरौती के लिए अगवा किए गए दिल्ली के एक बड़े कारोबारी को 36 घंटे के भीतर छुड़ाकर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया । 28 वर्षीय सौरभ गर्ग नाम के कारोबारी का शनिवार रात पश्चिम विहार एरिया से गन पॉइंट पर अपहरण कर लिया गया । उस समय वह अपनी कार से घर लौट रहे थे। दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक्स स्टोर चेन के मालिक सौरभ को अगवा करने के बाद आरोपियों ने 5 करोड़ की फिरौती के लिए परिवार को कॉल किया । जिसके बाद पुलिस में हड़कंप मच गया। फिल्मी अंदाज में किडनैपिंग के केस को सुलझाते हुए जिन दो किडनैपर्स को गिरफ्तार किया | उनमें एक करीब 4 साल पहले उनका कर्मचारी रह चुका है। आरोपियों के कब्जे से एक कार, दो बाइक्स, वारदात में इस्तेमाल पिस्टल बरामद कर ली गई है |

डीसीपी एमएन तिवारी के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपियों की पहचान पश्चिमपुरी निवासी 23 वर्षीय मनीष व तिलक नगर निवासी 44 वर्षीय सतनाम के रूप में की गई है । इनमें मनीष पूर्व कर्मचारी व अपहरण की साजिश का मास्टरमाइंड है। आनंद गुप्ता के बड़े भाई दयानंद गुप्ता के दिल्ली में ही 100 इलेक्ट्रॉनिक्स स्टोर्स हैं |

पश्चिम विहार स्थित ज्वालाहेड़ी में बड़ा स्टोर है जिसे खुद सौरभ गुप्ता देखते हैं। रोज की तरह शनिवार रात शोरूम से सौरभ अपनी कार से घर के लिए रवाना हुए। जब वह पश्चिम विहार में विद्यापीठ के सामने पहुंचे तभी बाइक सवार किडनैपर ने उन्हे ओवरटेक कर कार को रुकवा दिया । गन पॉइंट पर लेकर उनके मुँह पर स्प्रे किया जिससे वह बेहोश हो गए। फिर आंखों व हाथ-पांव पर पट्टी बांधकर कार में डाल लिया। निहाल विहार के निलोठी एक्सटेंशन स्थित चंदर विहार की कच्ची कॉलोनी में किराए पर लिए गए खाली फ्लैट में लेकर पहुंचे। उधर देर रात तक घर न पहुंचने पर परिवारवालों ने उन्हें कॉल किया। लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई। कुछ देर बाद सौरभ के मोबाइल नंबर से ही परिवार को कॉल की गई। किडनैपर्स ने 5 करोड़ फिरौती की मांगी। जिसके बाद पुलिस को रात में ही इस बारे मैं जानकारी दी गई |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here