केजीएमयू की बड़ी लापरवाही, चार घंटे तक तड़पता रहा मासूम किसी ने नहीं ली सुध

0
89

लखनऊ : आए दिन देश के अलग अलग हिस्सों से डॉक्टर और हॉस्पिटल स्टाफ की लापरवाही के मामले सामने आते रहते हैं | ताजा मामला लखनऊ का है जहाँ पैर कटने के बाद केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर लाया गया एक बच्चा चार घंटे तक तड़पता रहा, लेकिन उसे देखने के लिए कोई डॉक्टर नहीं आया। जानकारी के अनुसार चारबाग स्टेशन के पास रहने वाला लकी (10 साल) बुधवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे चलती ट्रेन में चढ़ रहा था। संतुलन बिगड़ने से वह नीचे गिर पड़ा और उसका दाहिना पैर ट्रेन के पहिए के नीचे आ गया।

पैर कटने से तड़प रहे बच्चे को आसपास के लोग अस्पताल लेकर पहुंचे , जहां से उसे ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया। सुबह करीब साढ़े नौ बजे लाए गए बच्चे को रिजिडेंट डॉक्टरों ने पट्टी करके ड्रिप लगा दी और बहार भेज दिया | उसके बाद बच्चा चार घंटे तक स्ट्रेचर पर तड़पता रहा लेकिन अस्पताल की ओर से किसी ने उसकी सुध नहीं ली । जिसके बाद लोगों ने शिकायत की , शिकायत करने के बाद बच्चे को सर्जरी डिपार्टमेंट में भेजा गया |

इस बारे में ट्रॉमा सेंटर के इंचार्ज डॉ. हैदर अब्बास ने मीडिया से बात करते हुयी कहा कि बच्चे का इलाज सर्जरी विभाग में किया जा रहा है ओर इलाज में किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं की जा रही है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here