परिवारिक रंजिश में भाई की हत्या कर , शव को जमीन में दफनाया

0
118

अमरोहा : फिल्म दृश्यम तो आपको याद ही होगी। कुछ उसी अंदाज में जिलेराम ने भी अपने भाई की हत्या कर उसके शव को जमीन में दफना दिया।फर्क बस इतना रहा कि वो फिल्म थी। लेकिन हकीकत में पिक्चर अभी बाकी थी। जिलेराम ने अपने ही घर के कमरे में छह फिट गहरा गड्ढा करके अपने रिश्ते के भाई प्रशांत का शव दफनाया था। पुलिस की पूछताछ के आगे वो ज्यादा देर टिक न सका और राज उगल दिया। 15 दिसंबर को वह खेत से घर लौटते समय लापता हो गया था। परिजनों ने तलाश किया। लेकिन कोई सुराग नही लगा। परिजनों ने गुमशुदगी दर्ज कराई। इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि सोमवार को शक के आधार पर पुलिस ने गांव के ही जिलेराम को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। जिसमें उसने हत्या का राज उगल दिया।

बताया कि हत्यारोपी जिलेराम मृतक छात्र प्रशांत के पिता हेतराम के साथ राज मजदूरी करता था। हेतराम ने उसे डेढ़ महीने की मजदूरी नहीं दी। जिसके बाद वह हेतराम के परिवार से रंजिश मानने लगा। अपने भाई महेंद्र के साथ मिलकर उसने प्रशांत को अगवा कर लिया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या का खुलासा न हो इसलिए घर में ही गड्ढा खोदकर शव को जमीन में दफना दिया।

जिलेराम प्रशांत के पिता के साथ राज मजदूरी करता था। महज इतनी सी बात पर वह उसके पिता से रंजिश मानने लगा था क्योंकि उन्होंने उसकी मजदूरी नहीं दी थी। मजदूरी न मिलने से नाराज जिलेराम उसे दुख देने के लिए षड्यंत्र रचने लगा। जानकारी के मुताबिक 15 दिसंबर को प्रशांत अपने परिवार के साथ गन्ने के खेत पर गया था। खेत से यह कहकर चला था कि वह घर जा रहा है। लेकिन प्रशांत घर नहीं पहुंचा।

शाम को जब परिजन घर आए तो देखा बेटा घर पर नहीं है। इसी बात से परेशान होकर सारी रिश्तेदारियों में उसकी तलाश की। लेकिन उसका कहीं पता नहीं लगा। पुलिस को सूचना देकर गुमशुदगी भी दर्ज कराई । इस मामले में पुलिस ने कुछ कार्रवाई की। सोमवार को शक के आधार पर जिलेराम को उठाया और सख्ती से पूछताछ की। जिलेराम ने पूरी घटना उगल दी। उसने बताया कि मजदूरी न मिलने से वह नाराज था। इसी गुस्से में उसने अपने भाई महेंद्र के साथ मिलकर प्रशांत को अगवा कर लिया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here