होली का त्योहार सपा के लिए संजीवनी, बढ़ने लगी है चाचा-भतीजे की नजदीकियां

0
39

नई दिल्ली: बीते साल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था। नतीजे इस प्रकार थे जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। सपा टीम अपनी हार से पूरी तरह से टूट गई थी। सपा की इस हार का सबसे बड़ा कारण परिवार में हुए विवाद को बताया गया। वहीं चुनावी पंडित भी सपा के गिरते प्रदर्शन का कारण परिवार में पैदा हुआ कलह रहा था। पार्टी अब इससे उभर चुकी है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पहले ही पीएम नरेंद्र मोदी व भाजपा को लोकसभा चुनाव के लिए चुनौती दे दी हहै। अखिलेश यादव की मानें तो अगर सपा एकजुट होकर लोकसभा चुनाव में  उतरेगी तो उसे जीतने से कोई नहीं रोक सकता। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने इस मिशन पर निकल चुके है। उन्होंने पहला कदम ही सुधार की ओर बढ़ाया है।

यूपी के इटावा जिले में होली के सैफई में पूर्व सीएम अखिलेश यादव पहुंचे। उन्होंने सैफई में अपने समर्थकों के साथ फूलो की होली खेली और देश व प्रदेश वासियों की होली की बधाई दी। इस मौके पर सपा समर्थकों की होली की खुशी और दोगुनी हो गई जब शिवपाल सिंह यादव भी होली खेलने अपने बेटे आदित्य यादव के साथ पहुंचे। पूरा परिवार एक मंच पर था और इससे समर्थकों में जोश आ गया। परिवार विवाद के बाद ये पहला मौका था जब दोनों चाचा-भतीजे एक साथ एक मंच पर खुशी बांट रहे थे। शिवपाल सिंह के मंच पर पहुँचते ही अखिलेश यादव ने रिश्ते में छोटे होने के नाते कुर्सी से खड़े होकर चाचा से आशीर्वाद लिया लेकिन इस बाद दोनों लोग मंच पर तो रहे लेकिन दोनों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई। इस मौके पर सांसद बदायूँ धर्मेंद्र यादव, सांसद मैनपुरी तेज प्रताप यादव, इटावा ज़िला पंचायत अध्यक्ष अभिषेक यादव, पूर्व चैयरमेन फुरकान अहमद आदि सपा नेता और समर्थक मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here