नाम से नहीं काम से भी मास्टर है हल्द्वानी का द मास्टर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल

0
113

 

हल्द्वानी: मास्टर शब्द की परिभाषा की बात करें तो जो सभी क्षेत्र में अव्वल। इस शब्द के मायने जानने के लिए आपकों सचिन तेंदुलकर को देखना चाहिए। उन्हें क्रिकेट ने मास्टर का नाम दिया। उसी तरह हल्द्वानी पिनियाली कठघरिया स्थित का द मास्टर्स सीनियर स्कूल भी है। स्कूल की शिक्षा प्रणाली नतीजों में कामयाबी दिलाती है। ऐसा पिछले 2 दशकों से हो रहा है। स्कूल पहले ही बायोमैट्रिक अटेंडेंस के चलते सुर्खियों में रहा ।

जी हां स्कूल में छात्रों की अटेंडेंस के लिए बायोमैट्रिक का इस्तेमाल होता है।  मास्टर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल शिक्षा के मंदिर में सेवा करने के इरादे से निकला है। स्कूल कई छात्रों को आर्थिक मदद भी दी जाती है। स्कूल में प्रवेश शुल्क भी नहीं लिया जाता है। कई बच्चे निशुल्क शिक्षा भी प्राप्त कर रहे है। इसके अलावा खेल में आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे छात्रों को भी स्कूल आर्थिक प्रोत्साहन देता आया है।

हल्द्वानी प्रकाश डेंटल टिप्स- रूट कैनाल उपचार से दूर होगा दांतों का अहसाय दर्द

स्कूल के प्रबंधक चंदन रैकवाल के अनुसार शिक्षा प्राप्त करने का हक हर किसी को है। हमारी यही कोशिश है कि कोई उसे वंचित ना रह पाए। ये समाज में एक अच्छा संदेश देती है। उन्होंने कहा कि छात्रों को इन सभी चीजों को अपने जीवन का हिस्सा बना लेना चाहिए। शिक्षा ग्रहण करने के लिए एक स्वच्छ माहौल होने की जरूत है। छात्रों को अगर अभी सपोर्ट किया जाए तो वो उत्साह के साथ आगे बढ़ेंगे। उन्होंने साल 2018-2019 के सत्र के लिए सभी छात्रों को बधाई और शुभकामनाएं दी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here