इंतजार करता रह गया हरिद्वार ,अस्थियां रामेश्वरम में विसर्जित कर दी गई

0
417

हरिद्वार : हल्द्वानी लाइव : हरिद्वार में तीर्थपुरोहितों को पूरा विश्वास था की दिवंगत फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की अस्थियों को हरिद्वार लाया जाएगा। दिवंगत फिल्म अभिनेत्री की अस्थियों की प्रतीक्षा की जा रही थी, ताकि कपूर परिवार की परंपराओं के अनुसार उनका विर्सजन हरकी पैड़ी पर किया जा सके, लेकिन श्रीदेवी की अस्थियों का विसर्जन रामेश्वरम में किया गया, लेकिन हरिद्वार में तीर्थपुरोहितों को पूरा भरोसा था कि उनकी अस्थियां यहां लाई जाएगी।

इसके पीछे की वजह खास है दरअसल  श्रीदेवी के पति बोनी कपूर और पूरा कपूर खानदान मूल रूप से पाकिस्तान के पेशावर शहर के निवासी हैं। पृथ्वीराज कपूर से लेकर कूपर परिवार की तमाम अस्थियां हरिद्वार आई हैं और उनके पुरोहित पंडित शिव कुमार पालीवाल ने कर्मकांड संपन्न कराए । बोनी कपूर और राजकूपर दोनों के ही परिवार पेशावर शहर के रहने वाले हैं, किंतु दोनों परिवारों के बीच कोई रिश्ता नहीं है। बोनी कपूर परिवार से ऋषिकेश परमार्थ निकेतन के मुनि चिदानंद के गहरे संबंध हैं। वे या अनिल कपूर जब भी हरिद्वार आए उन्हीं के पास कर्मकांड करने पहुंचे। अलबत्ता उन्होंने अपने पुरोहित को ऋषिकेश अवश्य बुलाया। उनकी बही में नाम भी दर्ज कराया।पिछली बार हरिद्वार के पुरोहितों की ओर से कड़ा विरोध करने पर मुनि चिदानंद ने हरिद्वार आकर बाकायदा घोषणा की थी कि वे अब कभी भी ऋषिकेश में अस्थि प्रवाह नहीं कराएंगे। शास्त्रों के अनुसार हरकी पैड़ी पर ही अस्थि प्रवाह के लिए लाया जाएगा।अब तीर्थ पुरोहित पंडित शिव कुमार पालीवाल आशंकित थे कि बोनी कपूर अस्थियां लेकर हरिद्वार आते हैं या ऋषिकेश जाते हैं। उन्होंने मुंबई में कपूर परिवार से संपर्क भी साधा था, लेकिन अब खबर मिली की श्रीदेवी की अस्थियां रामेश्वरम में विसर्जित कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here