मनी ट्रांजेक्शन और शॉपिंग के लिए मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करने वालों के लिए एक बड़ा झटका

0
257
हल्द्वानी : पीएम बनने के मोदी ने लगातार डिजिटल क्रांति पर बल दिया है और इसी कड़ी में उन्होने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए नोटबंदी भी की थी । भले ही एक ओर पीएम मोदी डिजिटल पेमेंट और कैशलेस इकॉनमी की बात करें लेकिन इसी बीच आरबीआई ने एक बड़ा ऐलान किया है । अगर आप मनी ट्रांजेक्शन और शॉपिंग के लिए अपने मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको एक बड़ा झटका लग सकता है। जानकारी के मुताबिक निश्चित समय में केवाईसी प्रक्रिया पूरी न किये जाने पर आप लाइसेंस प्राप्त कंपनियों की मोबाइल वॉलेट की सुविधा का लाभ नहीं उठा पायेंगे. आइये इस खबर पर पूरी नजर डालें।
 

दरअसल, एक आदेश का पालन न करने के चलते रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत भर में चल रहे मोबाइल वॉलेट की सुविधा को कुछ ग्राहकों के लिए बंद कर सकता है। रिजर्व बैंक के आदेश के अनुसार देश में ग्राहकों को लाइसेंस प्राप्त सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों में अपना केवाईसी नॉर्म्स 28 फरवरी 2018 तक पूरा करना है,  अगर फरवरी लास्ट तक ग्राहक ऐसा नहीं करते हैं, तो वे मोबाइल वॉलेट की सुविधा को आगे जारी नहीं रख पायेंगे। जानकारी के मुताबिक बहरहाल भारत में 9 परसेंट से भी कम ऐसे ग्राहक है, जिन्होनें अपना केवाईसी कंपनियों को दिया है। इसका मतलब है कि देश में 91 परसेंट से अधिक ऐसे उपभोक्ता हैं, जो मोबाइल वॉलेट अकाउंट बिना केवाईसी प्रक्रिया के चला रहे हैं। उम्मीद है कि इन्हीं 91 परसेंट उपभोक्ताओं के अकाउंट के बंद कर दिए जायेंगे। 

पेटीएम, मोबिक्विक, एयरटेल मनी समेत कई कंपनियां मोबाइल वॉलेट की सुविधा को जारी रखने के लिए ग्राहकों को लगातार केवाईसी पूरा का अनुरोध कर रही हैं। केवाईसी पूरा करने के लिए ग्राहकों को अपने मोबाइल वॉलेट को आधार कार्ड और पैन कार्ड से लिंक कराना होगा। इसके बाद उनका मोबाइल वॉलेट पूरी तरह से सुरक्षित हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here