2007 में मीडिया के धुरंधर सुधीर चौधरी पर लगे फर्जीवाड़े का आरोप, मीडिया हुआ था शर्मसार

0
273

नई दिल्ली: न्यूज चैनल्स की दुनिया की बात जब भी होती है तो जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी का नाम सबसे पहले आता है। उनका शो डीएनए पूरे देश में मशहूर है। मीडिया से जुड़ा हर युवा सुधीर जैसा नाम करने के सपने देखता है। सुधीर आज जो मुकाम पर उसके लिए उन्होंने कई बड़ी स्टोरी की होगी लेकिन अपनी इस छवि पर एक दाग भी लगा जिसने पूरे मीडिया को शर्मसार किया। मामला साल 2007 का है। सुधीर चौधरी और उनके रिपोर्टर प्रकाश सिंह पर दिल्ली की महिला स्कूल शिक्षिका उमा खुराना का फर्जी स्टिंग ऑपरेशन दिखाने का आरोप लगा था।

स्टिंग में शिक्षिका उमा खुराना को स्कूली छात्राओं को देह व्यापार में धकेलने की बात कही गई थी।  ये खबर टीवी पर प्रसारित हुई तो अभिभावकों ने स्कूल में जमकर हंगामा किया। यहां तक की लोगों ने उमा खुराना की पिटाई भी कर दी और जान से मारने की कोशिश की गई।  खबर उस समय लाइव टीवी न्यूज चैनल पर प्रसारित की गई थी। सुधीर तब इस चैनल के सीईओ थे। पूरा मामला तुर्कमान गेट स्थित सरकारी स्कूल का है।

पुलिस ने शुरुआत में उमा खुराना को गिरफ्तार किया। लेकिन जांच के बाद सामने आया कि स्टिंग फर्जी था और टीआरपी बढ़ाने के लिए प्रसारित किया गया था। फर्जी स्टिंग के आरोप में प्रकाश को गिरफ्तार करके उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया।सुधीर को पूरी घटना का सूत्रधार बताया गया। स्टिंग में एक 15 साल की छात्रा को भी ग्राहक के तौर पर दिखाया गया था। खबर प्रसारित करने के आरोप पर न्यूज चैनल पर एक महीने का प्रतिबंध भी लगा दिया गया।

सुधार चौधरी पर भी इसकी गाज गिरी। सुधीर का नाम आज मीडिया के प्रभावशाली लोगों में शामिल है लेकिन उनका करियर इस दाग अछूता नहीं रहा है। मीडिया से जुड़े युवा आज सुधीर को एक आईडल के तौर पर भी देखते है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here