हल्द्वानी: साइबर क्राइम की चपेट में आया बीटेक छात्र, 87 हजार की ठगी

0
643

 

हल्द्वानी: साइबर क्राइम की घटनाएं अक्सर सामने आते हैं। इन लिस्ट में उन लोगों की संख्या ज्यादा होती है जो टैक्नोलॉजी का प्रयोग ज्यादा नहीं करते है, लेकिन इस बार एक बीटेक छात्र के साथ धोखा हुआ है। कार निकलने का झांसा देकर छात्र से 87 हजार रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। छात्र ने ऑनलाइन बैग खरीदा था। जब उसे ठगी का अहसास हुआ तो अपने जीजा के साथ कोतवाली पहुंचकर उसने पुलिस को इस घटना की जानकारी दी। जो फिस उसने लालच में गंवाई वो कॉलेज की फीस थी।  सर्विलांस सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

पीडित छात्र का नाम पंकज है और वो भीमताल के निजी कॉलेज से बीटेक कर रहा है। वो दमुवाढूंगा रहने वाला है। पंकज ने कुछ दिन पहले ऑनलाइन शॉपिंग बैग ऑर्डर किया था जिसकी कीमत 648 रुपए थी। 29 जनवरी को बैग की डिलीवरी हो गई। 12 फरवरी को छात्र  पंकज के मोबाइल पर एक अनजान नंबर से फोन आया। कॉलर ने खुद को ऑनलाइन शापिंग कंपनी का अफसर बताया। कॉलर ने कंपनी के लकी ड्रॉ में छात्र की 6.25 लाख रुपये की इंडिका कार निकलने का झांसा दिया। छात्र पंकज साइबर ठग की बातों में आ गया। ठग ने इसके लिए रजिस्ट्रेशन चार्जेज के तौर पर 8400 रुपये एक खाते में जमा कराए। इसके बाद एनओसी चार्जेज के नाम पर 18600 रुपये, सिक्योरिटी चार्जेज के 35200 रुपये, इनकम टैक्स के 25 हजार रुपये जमा करवाए। ठगों ने फिर 60 हजार रुपये की डिमांड कर दी। इस पर छात्र ने अपने जीजा को आपबीती बताकर रुपये उधार मांगे।

 

मूल रूप से बागेश्वर जिले में रहने वाला छात्र पंकज यहां दमुवाढूंगा में जीजा के साथ रहकर पढ़ाई करता था। उसके पिता आर्मी में तैनात थे। उनकी मृत्यु के बाद मां को पेंशन मिलती है। पुलिस के मुताबिक कुछ दिन पहले ही मां ने कालेज की फीस जमा कराने के लिए छात्र के अकाउंट में रुपये जमा कराए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here