लखनऊ :बोर्ड की परीक्षा से बचने के लिए छात्र ने रच डाली खुद के ही अपहरण की कहानी

0
56

लखनऊ : आपने भी अक्सर बचपन में एग्जाम से बचने के लिए बहाने बनाए होंगे मगर जो खबर हम आप को बताने जा रहे हैं वो आप को पूरी तरह हैरान कर देगी , आप यह सोचने पर मजबूर हो जाएंगे की क्या कोई परीक्षा से बचने के लिए  कोई ऐसा भी कर सकता है ।

यह घटना लखनऊ के मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित इंटर के एक छात्र ने बोर्ड की परीक्षा से बचने के लिए खुद के ही अपहरण की कहानी रच डाली। पुलिस ने चौबीस घंटे बाद शुक्रवार को सर्विलांस से उसकी लोकेशन ट्रेस करके उसे चारबाग स्टेशन से बरामद कर लिया, तब जाकर इस पूरे मामले से पर्दा उठा।

सदनपुर गांव थाना कमलापुर, जिला सीतापुर निवासी मधुकर सिधौली नगर पंचायत में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। बताया कि उनका बेटा अनुज (18) मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित रामलीला मैदान के पास किराये का कमरा लेकर रहता है। वह यहीं एक निजी इंटर कॉलेज से पढ़ाई कर रहा था। अनुज का बोर्ड परीक्षा केंद्र जानकीपुरम स्थित एक इंटर कॉलेज में पड़ा था। गुरुवार को वह घर से परीक्षा देने की बात कहकर निकला, फिर परिजनों को अपने अपहरण की सूचना दे दी। परेशान परिजनों ने जाकर  थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पिता मधुकर ने पुलिस को बताया कि गुरुवार दोपहर बाद करीब तीन बजे उसने फोन कर अपहरण की सूचना दी थी। इसके बाद उसका फोन बंद हो गया। मधुकर ने त्रिवेणी नगर निवासी रिश्तेदार मुन्ना को फोनकर अनुज के अपहरण की सूचना दी। इस पर पुलिस सक्रिय हो गई। शुक्रवार को उसे चारबाग स्टेशन से बरामद कर लिया।

इंस्पेक्टर मड़ियांव अमरनाथ वर्मा ने बताया कि अनुज ने पूछताछ में बताया कि वह गणित विषय से इंटर की पढ़ाई करना चाहता था, लेकिन पिता ने जबरन बायोलॉजी विषय दिला दिया। क्योंकि पिता उसे डॉक्टर बनाना चाहते हैं। जबकि बायोलॉजी उसकी समझ में नहीं आ रही। इसलिए वह पेपर देने नहीं गया और रास्ते से भागकर फर्जी अपहरण का नाटक रचा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here