देवभूमि की पुलिस ने पेश की मिसाल, दरोगा ने भाई का काटा चालान

0
296

देहरादून: आपने पुलिस वालों को ट्रैफिक के नियम तोड़ने वालों का चालान करते हुए देखा होगा। एक ऐसा मामला सामने आया है जहां दरोगा ने अपने भाई का चालान काट दिया। इस खबर के सामने आते ही उत्तराखण्ड पुलिस की सोशल मीडिया पर वाहवाही हो रही है। उत्तराखण्ड पुलिस मे तैनात एक दरोगा ने अपने ही भाई का चालान काट दिया। दरोगा के भाई ने हेलमेट नहीं पहना था। अब आपकों ये जानकर हैरानी होगी कि दरोगा का छोटा भाई कांस्टेबल है।  दरोगा का नाम मंजुल रावत है और वो जौलीग्रांट पुलिस चौके के प्रभारी है। बुधवार को रुटीन चैकिंग कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने बिना हेलमेट बाइक चालाक को खुद की ओर आते देखा। उन्होंने चालक को तुंरत रोका तो उन्होंने दिखा कि जो युवक नियम तोड़ रहा था वो कोई और नहीं उनका छोटा भाई था। भाई मृणाल रावत रायवाला पुलिस थाने में कांस्टेबल के पद पर तैनात है।

छोटा भाई मृणाल अपने बड़े भाई मंजुल से मिलने के लिए आ रहा था। मृणाल के कुछ कहने से पहले बड़े भाई ने अपनी वर्दी का फर्ज निभाते हुए उसका चालान कर दिया। उत्तराखण्ड पुलिस का सिपाही होने के नाते अपने दायित्व के प्रति सजग रहने को लेकर कड़ी फटकार भी लगाई। छोटे भाई मृणाल ने 200 रुपए का चालान भरा और दोबारा ऐसी गलती करने का भरोसा दिलाया।

इस घटना के बाद निजी अखबार ने जब दरोगा मंजुल रावत से बात की तो उन्होंने कहा कि वे ड्यूटी के दौरान अक्सर जब सड़क दुर्घटना के घायलों को देखते हैं तो उन्हें डर लगा रहता है कि कहीं कभी उनके अपनों लोगों के साथ भी ऐसा न हो जाये। इसी भय के कारण आज उन्होंने अपने छोटे भाई का चालान काटा और उसे फटकार भी लगाई। इस वाक्या के बाद सोशल मीडिया पर मंजुल रावत की तारीफ हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here