उत्तर प्रदेश का मेडिकल कॉलेज, एंबुलेंस से मरीज नहीं लाई गई शराब

0
112

मेरठ: कॉलेज को शिक्षा के मंदिर के रूप से देखा जाता है। शिक्षकों पर कॉलेज की मर्यादा को बनाए रखने की जिम्मेदारी होती है। लेकिन मेरठ के एक मेडिकल कॉलेज में ये बाते केवल किताबों पर नजर आती है। मेरठ में राज्य सरकार द्वारा संचालित लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में अलुम्नाई मीट का आयोजन किया गया। पार्टी के दौरान डॉक्टरों का बेहद गैरजिम्मेदाराना रवैया सामने आया है। यहां ऐंबुलेंस का इस्तेमाल शराब की बोतलें ढोने में हुआ तो वहीं मेहमानों के एंटरटेनमेंट के लिए रशियन डांसरों बुलाया गया था। इस घटना के सामने आने के बाद मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य ने विभागीय जांच के आदेश दिए। दरअसल कॉलेज में पुराने छात्र एसोसिएशन द्वारा सिल्वर जुबली फंक्शन का आयोजन किया गया जिसमें 1992 बैच के कई प्रसिद्ध डॉक्टरों को गढ़ रोड स्थित कॉलेज परिसर में बुलाया गया। सूत्रों के अनुसार, अल्होकल को परिसर के अंदर परोसा गया। इसके बाद दोपहर में रशियन डांसर्स का डांस हुआ।

 

इस बारे में प्रधानाचार्य विनय अग्रवाल ने बताया, ‘मुझे इसके बारे में बाद में जानकारी मिली। अब इस बात के स्पष्ट संकेत नहीं मिले हैं कि इंस्टीट्यूट की एेंबुलेंस या किसी प्राइवेट अस्पताल की ऐंबुलेंस का इस्तेमाल शराब ढोने में किया गया है। हम इसकी तह तक जाएंगे।’

मामले की जानकारी मिलने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ के कलेक्टर, सीएमओ और मेडिकल कॉलेज प्रशासन को लताड़ लगाई। सीएमओ राजकुमार ने मीडिया से बताया कि उन्हें खबर मिली है कि अस्पताल में आयोजित कार्यक्रम में रशियन डांसर को बुलाया गया था, और इस दौरान एंबुलेंस में भरकर शराब मंगाई गई थी। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा हुआ है तो यह बेहद गलत है। सीएमओ ने कहा कि मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here